mahilao ki suraksha par sampadak ko patra

महानगरों में महिलाओं की सुरक्षा के विषय में समाचार पत्र के संपादक को पत्र

आज के इस लेख में हम महिलाओं की सुरक्षा को लेकर दैनिक समाचार पत्र के  संस्थापक को एक पत्र लिखेंगे जिसमें हम यह समझाने की कोशिश करेंगे कि महिलाओं की सुरक्षा को हमें जरूरी समझते हुए जल्द से जल्द इस समस्या का निवारण किया जाना चाइये।

ताकि महिलाएं आजादी से बाहर घूम सके इस पत्र की मदद से हम प्रशासन और सरकार का ध्यान भी इस मुद्दे की ओर खिचेंगे।

ताकि सरकार इस मुद्दे को मध्य नजर रखते हुए नीतियां बनाये जैसे महिलाओं की सुरक्षा के लिए सी.सी.टी.वी कैमरा होना जरूरी हो जिससे ऑफिस मैं, कालेज मैं, स्कूल मैं सब जगह निगरानी रखी जाये। और हेल्प लाइन नंबर भी देने चाहिए । महिलाओं को आश्वासन देने के लिए पुलिस को उचित नीतियाँ बनानी चाहिए।

महानगरों में महिलाओं की सुरक्षा के विषय में समाचार पत्र के संपादक को पत्र

सेवा में,

श्रीमान संपादक जी,

जनसत्ता, दिल्ली

विषयमहानगरों में महिलाओं की सुरक्षा के विषय में

माननीय संपादक महोदय,

हमारे शहर में कानून-व्यवस्था की स्थित दिन-प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है, और महिलाओं के प्रति अपराधों में बेशुमार बढ़ोत्तरी हुई है । पुलिस असामाजिक तत्वों पर अंकुश लगाने में नाकाम रही है। मेरी राय में शासन-प्रशासन के उच्च स्तर के अधिकारियों व नेताओं को इस विषय में कड़े कदम उठाने की आवश्यकता है।

ताकि ये शहर महिलाओं के सुरक्षित बन सके और महिलायें निर्भीक होकर कहीं आ सकें। ऐसे कई उपाय हैं जिन्हे लागू करके काफी हद तक महिलाओं के प्रति हो रहे अपराधों पर काबू पाया जा सकता है, जरूरत है तो केवल प्रशासन की इच्छा-शक्ति और चुस्त-दुरुस्त होने की।

महिलाओं को आश्वासन देने के लिए पुलिस को उचित नीतियाँ बनानी चाहिए।” ताकी महिलाएं आजादी से अपना जीवन व्यतीत कर सके | पढ़ाई कर सके , बहार जॉब के लिए जा सके | मेरा केंद्र सरकार से अनुरोध है कि वे इस संबंध में कठोर कार्यवाही करें|

आशा है शीघ्र ही हमारा प्रशासन नींद से जागेगा और कड़े-कदम उठायेगा।

धन्यवाद…

एक जागरूक पाठक

ब्रजेश सिंह

रोहिणी, सेक्टर – 8

दिल्ली – 85

ये भी पढ़े :

आशा है दोस्तो की इस पत्र को पढ़ने के बाद आपकी महिलाओं की सुरक्षा के विषय में समाचार पत्र के संपादक को पत्र, की समस्या दूर हो चुकी होगी । यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे कमेंट कर के जरूर बताएं और आप इसे अपने Social Media Sites पर Share ज़रूर करें।

अगर आप भविष्य में भी ऐसी जानकारी लेना चाहते हैं तो आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें और साथ के साथ आप हमारे इंस्टाग्राम पेज और  फेसबुक पेज को लाइक करें।

जिससे आपको हमारे आने वाली हर पोस्ट की अपडेट समय से मिलती रहे और अगर आपको ऐसे ही किसी पत्र को लिखने में दिक्कत हो रही तो हमे कमेंट करे हम आपकी सहायता जरूर करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top