Fees Maafi ya Riyayat ke Liye Prathna Patra

स्कूल/कॉलेज की फीस माफी या रियायत के लिए प्रधानाध्यापक को आवेदन पत्र

आज हम बात करने वाले है कि आप अपने स्कूल/कॉलेज की फीस माफी या रियायत के लिए प्रधानाध्यापक को आवेदन पत्र कैसे लिखे।

कई बार पढ़ाई में तेज और होनहार होने के वावजूद कई विद्यार्थियों को अपनी पढ़ाई अधूरी छोड़नी पड़नी पड़ती है क्योंकि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नही होती।

जिंसके कारण भविष्य में उन्हें और कई परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। ऐसे में वो क्या करे, आप अपने स्कूल या कॉलेज के प्रधानाध्यापक को फीस मांगी या फीस में रियायत के लिए प्रार्थना पत्र लिख के उन्हें अपनी आर्थिक परेशानी से अवगत करा सकते है और उनसे अपनी मासिक फीस शुक्ल में रियायत या पूरी फीस माफ करने का अनुरोध कर सकते है।

इस पत्र लेख में निम्नलिखित दो परिस्थितियों में आवेदन कैसे करे ये बताया गया है

  1. फ़ीस माफ़ी के लिए आवेदन कैसे लिखें
  2. फ़ीस में रियायत हेतु प्रार्थना-पत्र कैसे लिखें

फ़ीस माफ़ी के लिए प्रार्थना पत्र : Fees Maafi ke Liye Prathna Patra

सेवा में,

श्रीमान प्रधानाध्यापक,

XYZ उच्च विद्यालय, (अपने स्कूल/कॉलेज का नाम लिखे)

एम.जी रोड, आगरा। (अपने स्कूल/कॉलेज का पता)

विषय: फीस माफ़ी के संबंध में।

महोदय,

सविनय निवेदन है कि मैं आपके स्कूल में कक्षा दस का छात्र हूँ। मैं एक गरीब परिवार से संबंध रखता हूँ। मेरे पिता एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं और उनकी तनख्वाह से ही हमारे परिवार का खर्च चलता है।

परंतु, पिछले कुछ महीनों से मेरे पिता जी का स्वास्थ्य ठीक नहीं है। जिसके कारण वो एक महीने से काम पर नहीं जा पा रहे। मेरी माता छोटा-मोटा काम कर के घर का खर्च चला रही हैं।

महोदय, मैं भी आगे पढ़ना चाहता हूँ ताकि पढ़-लिख कर अपने परिवार की ज़िम्मेदारी उठाने में सक्षम बन सकूँ। मैं पढ़ाई के साथ-साथ स्कूल की अन्य गतिविधियों में भी सदैव प्रथम रहता हूँ। मेरे अध्यापक भी हमेशा मुझ से प्रसन्न रहते हैं।

अतः मेरी आपसे निवेदन है की मेरे परिवार की परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए मेरी स्कूल की मासिक शुल्क माफ़ किया जाए ताकि मैं अपनी पढ़ाई जारी रख सकू और अपने लक्ष्यों को प्राप्त कर पाऊँ। मैं सदैव इसके लिए आपका आभारी रहूँगा।

धन्यवाद,

आपका आज्ञाकारी शिष्य,

विशाल शर्मा (अपना नाम लिखे)

कक्षा- दस A (अपनी कक्षा लिखे)

रोल नंबर –

दिनांक –

फ़ीस में रियायत के लिए प्रार्थना पत्र : School/College Fees me Riyayat Application in Hindi

 सेवा में,

श्रीमान प्रधानाचार्य जी,

XYZ पब्लिक स्कूल, (अपने स्कूल/कॉलेज का नाम लिखे)

एम.जी रोड, आगरा। (स्कूल का पता लिखे)

विषय: फीस रियायत के संबंध में।

महोदय,

सविनय निवेदन है कि मैं आपके स्कूल में कक्षा 9 का छात्र हूं। मेरे पिता के कार्यालय में मंदी के कारण उनका कार्यालय बन्द हो गया जिसके वजह से उन्होने पिछले महीने अपनी नौकरी खो दी है।

जिसके कारण हमारे परिवार की आर्थिक स्थिति ख़राब है और मेरे पिता मेरी स्कूल की पूरी फ़ीस भरने में असमर्थ हैं। मेरे अलावा मेरे दो भाई-बहन भी अभी छात्र हैं जिनकी पूरी ज़िम्मेदारी मेरे पिता जी पर है। मैं हमेशा पढ़ाई के साथ-साथ अन्य प्रतियोगिताओ आदि में भी आगे रहता हूँ। मेरे अध्यापक भी मुझसे प्रसन्न रहते है।

अतः आपसे मेरा यही निवेदन है कि, कृपया आप मेरी स्कूल की फ़ीस में थोड़ी रियायत दें, ताकि मैं अपनी पढ़ाई जारी रख सकूँ और पिछले साल की भांति इस साल भी स्कूल का नाम रोशन कर सकूँ। मैं आपको आश्वस्त करता हूँ कि आपको निराश नहीं करुंगा। इसके लिए मैं सदा आपका आभारी रहूँगा।

धन्यवाद,

आपका आज्ञाकारी शिष्य,

तन्मय दुबे (अपना नाम लिखे)

कक्षा- 9 A (अपनी कक्षा)

रोल नंबर –

दिनांक – ……….

नोट: हम यहाँ पे कुछ परिस्थितियों के अनुसार एप्पलीकेशन लिखे है, आप अपने परिस्थिति के अनुसार इस पत्र के प्रारूप का उपयोग कर सकते है।

आशा है दोस्तो की इस पत्र को पढ़ने के बाद आपकी प्रधानाचार्य को फीस माफी या रियायत के लिए प्रार्थना पत्र कैसे लिखे, की समस्या दूर हो चुकी होगी। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे कमेंट कर के जरूर बताएं और आप इसे अपने Social Media Sites पर भी ज़रूर Share करें।

अगर आप भविष्य में भी ऐसी जानकारी लेना चाहते हैं तो आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें और साथ ही आप हमारे इंस्टाग्राम पेज और  फेसबुक पेज को लाइक करें।

जिससे आपको हमारे आने वाली हर पोस्ट की अपडेट समय से मिलती रहे और अगर आपको ऐसे ही किसी पत्र को लिखने में दिक्कत हो रही तो हमे कमेंट करे हम आपकी सहायता जरूर करेंगे।

आगे पढ़े:

2 thoughts on “स्कूल/कॉलेज की फीस माफी या रियायत के लिए प्रधानाध्यापक को आवेदन पत्र”

    1. ये पत्र आपको अपने कॉलेज के प्रधानाध्यापक (Headmaster) को लिखना है.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top