FIR Application in Hindi

एफ आई आर के लिए एप्लीकेशन – FIR Application in Hindi

आज के इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे की एफ आई आर के लिए एप्लीकेशन कैसे लिखे जिसकी जानकारी हर किसी को होनी चाहिए। हमारे समाज में जहां धर्म को मानने वाले, पूजा-पाठ करने वाले लोग हैं, दुखियारी लोग हैं, वहीं पर चोरी करने वाले, लूटपाट करने वाले लोग भी उपस्थित हैं।

जिसके कारण अपराधिक गतिविधियां दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं। अपराध पर अपराध हुए जा रहे हैं। नियम के अनुसार यदि आपके साथ भी किसी प्रकार का कोई अपराध हुआ हो जैसे- बाइक चोरी होना, मोबाइल फोन का चोरी होना या फिर डॉक्यूमेंट का चोरी होना, आदि समस्याएं अगर आपके साथ घटित होती हैं तो आपको अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में लिखित या मौखिक रूप से सूचना दर्ज करानी होती है या देनी होती है ताकि आप को इंसाफ मिल सके।

लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि आज बहुत सारे लोगों को आवेदन पत्र या प्रार्थना पत्र कैसे लिखा जाता है इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है इसीलिए आज हम आपके लिए इस समस्या का समाधान लेकर आए हैं और आज हम अपने इस ब्लॉग में आपको बताएंगे की एफ आई आर के लिए आवेदन पत्र कैसे लिखा जाता है और इसमें किन-किन बातों का खास ध्यान रखना होता है।

एफ आई आर क्या होता है

FIR को हिंदी में प्रथम सूचना रिपोर्ट कहते हैं और अंग्रेजी में FIR को First Information Report कहते हैं। सीआरपीसी की धारा अर्थात दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 154 में FIR लिखने का प्रावधान दिया गया है।

भारत के किसी भी राज्य के जिले में या किसी भी जिले के अंतर्गत गांव या शहर में जो भी थाने बनाए गए हैं उसके इंचार्ज कि यह ड्यूटी है कि किसी भी व्यक्ति के साथ अगर कोई अपराध होता है तो वह पीड़ित व्यक्ति या उसका कोई सगा संबंधी या उसका मित्र उस घटना की सूचना लिखित या मौखिक रूप से पुलिस को दे सकता है अर्थात पुलिस स्टेशन पर पुलिस इंचार्ज को दे सकता है।

इसके साथ ही इंचार्ज द्वारा लिखी गई रिपोर्ट को सूचना देने वाले व्यक्ति को पढ़कर सुनाना होता है अर्थात पुलिस इंचार्ज उस लिखे गए रिपोर्ट को पढ़कर सुनाता है। उसके बाद जो व्यक्ति एफ आई आर दर्ज करवाता है उस व्यक्ति का हस्ताक्षर करवाता है और उसकी एक कॉपी सूचना देने वाले व्यक्ति को देता है। जरूरी नहीं है कि जहां पर अपराध हुआ हो उसी क्षेत्र के थाने में एफ आई आर दर्ज करानी हो आप एफ आई आर किसी भी नजदीकी पुलिस स्टेशन में जाकर दर्ज करा सकते हैं।

FIR एप्लीकेशन या प्रार्थना पत्र लिखने से संबंधित जानकारी

  • आपको अपना एप्लीकेशन उस थाने में देना होता है जिस थाना क्षेत्र के अंदर यह घटना घटित हुई रहती है।
  • अपने आवेदन पत्र में अपना पूरा नाम निवास स्थान इत्यादि की जानकारी देते हुए अपने साथ हुई घटना का पूरा विवरण लिखें अर्थात आप किस कारण FIR लिख रहे हैं यह अच्छे से विस्तार से लिखें।
  • जिस समय आप के साथ घटना हुई उस समय अगर कोई व्यक्ति उपस्थित है या फिर उस घटना का कोई प्रमाण जैसे – ऑडियो या वीडियो, इत्यादि अगर आपके पास है तो उसको भी प्रार्थना पत्र में शामिल जरूर करें।
  • घटना में आपको जो भी हानि हुई है आप उसके बारे में भी जरूर लिखें।
  • अपराध करने वाले व्यक्ति को करने वाले व्यक्ति को अगर आप पहचानते हैं तो उसके नाम और उसकी पहचान लिखें यदि आप अपराध करने वाले व्यक्ति को नहीं पहचानते हैं तो उसका हुलिया जरूर लिखें।
  • प्रार्थना पत्र के साथ अपने पहचान पत्र की प्रतिलिपि जरूर लगाएं और अंत में अपना हस्ताक्षर करना ना भूलें।

एफ आई आर के लिए एप्लीकेशन

1. मोटरसाइकिल चोरी होने पर

सेवा में ,

थाना प्रभारी,

कोतवाली थाना,

……………(जिले का नाम)

विषय : मोटरसाइकिल चोरी हो जाने के संबंध में।

महोदय,

मेरा …………(नाम),……… (उम्र),………….(पता) का निवासी हूं। आज दोपहर लगभग 3:00 बजे मैं अपने बाइक से अपनी पत्नी को जिला अस्पताल में इलाज के लिए ले गया था। पार्किंग में जगह ना होने के कारण मुझे अपनी बाइक अस्पताल के बाहर ही खड़ा करना पड़ा। जब मैं अस्पताल से वापस आया तो मुझे मेरी बाइक वहां नहीं मिली। मैंने आसपास के सभी जगह पर खोजा और कई लोगों से भी पूछताछ की परंतु मेरे बाइक की कोई जानकारी नहीं मिल पाई। मेरी बाइक 10 माह पुरानी है इसका रंग लाल और काला है।

मेरी बाइक का अन्य विवरण इस प्रकार है –

मेक – Hero

माॅडल- Passion Pro (2021)

रंग-Red – Black

पंजीकरण संख्या- AC45 C2476

अतः आपसे निवेदन है कि आप मेरे द्वारा दी गई मोटरसाइकिल की चोरी हो जाने की सूचना के आधार पर एफ आई आर दर्ज कर उचित कार्यवाही करने की कृपा करें।

धन्यवाद,

आपका आभारी

…………( नाम )

…………….(निवास स्थान का नाम)

………………( जिले का नाम )

दिनांक -…………

मोबाइल नंबर -……………

……………..( हस्ताक्षर )

नोट : वाहन का आलसी और पहचान पत्र की कॉपी संलग्न करें।

ये भी पढ़े:

2. घर में चोरी होने पर

 सेवा में,

श्रीमान थाना प्रबंधक,

…………..(जिला का नाम)

विषय : घर में चोरी होने के संबंध में।

महोदय,

मैं एक रिपोर्ट दर्ज कराना चाहता हूं। कल रात में 1:00 बजे कि जब हम सभी घर के सदस्य सो रहे थे। तब चोरों ने अपने औजार से दरवाजे में लगे ताले को तोड़कर घर में घुस गए। उन्होंने अलमारी में रखे ₹70,000 चोरी कर लिए और साथ ही साथ दो लाख के गहने भी ले गए, कुछ घर के सामान भी चोरी करके ले गए। जिनमें मेरी, घड़ी, लैपटॉप, टीवी, कूलर भी शामिल है।

मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि आप हमारे घर में आकर जांच करें और चोरों का पता लगाकर हमारे सामान को वापस मिलने में हमारी मदद करें। इसके लिए हम आपके सदा आभारी रहेंगे।

सधन्यवाद,

आपका विश्वसनीय,

…………..( नाम )

…………..(पता )

मोबाइल नंबर -………..

दिनांक -………….

………….(हस्ताक्षर)

नोट : ऊपर दिए गए प्रार्थना पत्र के फॉर्मेट में आप अपने अनुसार घटना का कारण लिखकर एफ आई आर प्रार्थना पत्र लिख सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top